Home / उत्तर प्रदेश / गुरु की याद में सीएम योगी ने बनवाया एक और “ज्ञान मंदिर”

गुरु की याद में सीएम योगी ने बनवाया एक और “ज्ञान मंदिर”

कल महंत अवेद्यनाथ राजकीय महाविद्यालय का लोकार्पण करेंगे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ।

रितेश मिश्रा (गोरखपुर)। गुरु की स्मृतियों को इतिहास के स्वर्ण अक्षरों में कैसे दर्ज किया जाए कि आने वाली पीढियां भी अपनी सुनहरी आभा बिखेरती रहें, यह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से सीखा जा सकता है। शिक्षा के जरिये समाज के उत्थान के लिए गुरु के संकल्प को पूरा करने में जुटे योगी ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ की पुण्य स्मृति में एक और “ज्ञान मंदिर” को लोक सेवा में अर्पित करने जा रहे हैं। इस ज्ञान मंदिर के परिसर में ब्रह्मलीन महंत के व्यक्तित्व व कृतित्व की याद दिलाने को उनका विग्रह भी होगा। अभी पखवारे भर पहले महंत अवेद्यनाथ की सातवीं पुण्य तिथि मनाई गई थी और अब 13 अक्टूबर को उनकी याद में बने महंत अवेद्यनाथ राजकीय महाविद्यालय, जंगल कौड़िया का लोकार्पण मुख्यमंत्री एवं गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ की तरफ से गुरु के सूक्ष्म शरीर को मूर्तमान श्रद्धांजलि होगी। 13 अक्टूबर को पूर्वाह्न11 बजे राजकीय महाविद्यालय के लोकार्पण व महंत अवेद्यनाथ की प्रतिमा के अनावरण समारोह में डिप्टी सीएम डॉ दिनेश शर्मा और उच्च शिक्षा राज्य मंत्री श्रीमती नीलिमा कटियार भी उपस्थित रहेंगी।

महंत अवेद्यनाथ राजकीय महाविद्यालय की आधारशिला सीएम योगी ने 21 मई 2018 को रखी थी। ब्रह्मलीन गोरक्षपीठाधीश्वर पांच बार मानीराम से विधायक रहे और जंगल कौड़िया इस विधानसभा क्षेत्र का प्रमुख केंद्र होने से यहां के लोगों से उनका गहरा आत्मीय लगाव था। इस क्षेत्र में उच्च शिक्षा की गुणवत्तापूर्ण व्यवस्था के लिए उनके नाम से महाविद्यालय की स्थापना से उनकी यादें भी सदैव जीवंत रहेंगी। महंत अवेद्यनाथ के एक अन्य प्रिय क्षेत्र महराजगंज के चौक बाजार में गोरक्षपीठ की तरफ से उनकी स्मृति में बना महाविद्यालय पहले से ही सेवा प्रदायी है। 24 सितंबर को केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के साथ मुख्यमंत्री ने वहां उनकी आदमकद प्रतिमा का अनावरण किया था। जंगल कौड़िया में लोकार्पित होने जा रहे राजकीय महाविद्यालय के परिसर में भी महंत अवेद्यनाथ की आदमकद कांस्य प्रतिमा का भी अनावरण होने जा रहा है।

बालिकाओं की उच्च शिक्षा के लिए मील का पत्थर बनेगा महाविद्यालय

करीब 31 करोड़ रुपये की लागत से बना महंत अवेद्यनाथ राजकीय महाविद्यालय वैसे तो सह शिक्षा की व्यवस्था वाला है लेकिन इस क्षेत्र की बालिकाओं की उच्च शिक्षा के लिए यह मील का पत्थर बनेगा। प्रायः यह देखा जाता है कि गांव से उच्च शिक्षा के संस्थानों की अधिक दूरी और आर्थिक स्थिति ठीक न होने से कई बालिकाएं अपनी पढ़ाई जारी नहीं रख पाती हैं। ऐसे में यह महाविद्यालय जंगल कौड़िया और आसपास के अनेक गांवों की बालिकाओं के लिए शिक्षा के जरिये स्वावलंबन का आधार बनेगा। इस महाविद्यालय में बालकों के साथ ही बालिकाओं के लिए अलग छात्रावास की व्यवस्था है।

इसी सत्र से स्नातक प्रथम वर्ष की कक्षाएं प्रारंभ

सीएम योगी की मंशा के अनुरूप इस सत्र से इस महाविद्यालय में स्नातक प्रथम वर्ष की कक्षाएं प्रारंभ हो चुकी हैं। यह महाविद्यालय पंडित दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय से संबद्ध है और इसे कला, विज्ञान एवं वाणिज्य संकाय की कक्षाएं चलाने की मंजूरी मिल चुकी है। तीनों संकायों में चार सौ से अधिक विद्यार्थियों का प्रवेश हो चुका है। प्रवेश प्रकिया जारी भी है। अध्ययन का कार्य सुचारु रूप से हो, इसके लिए प्राचार्य, शिक्षकों व अन्य स्टाफ की नियुक्ति भी हो गई है।

 

महंत अवेद्यनाथ राजकीय महाविद्यालय : एक नजर में

शिलान्यास  – 21 मई 2018

स्वीकृत लागत – 30.34 करोड़ रुपये प्लस जीएसटी

कार्यदायी संस्था – उप्र. राजकीय निर्माण निगम

कार्य प्रारंभ   – जून 2019

कार्य पूर्ण    – अक्टूबर 2021

क्लास रूम  – 14

लाइब्रेरी     – 1

लैब         – 4

कम्प्यूटर रूम – 1

परीक्षा हाल  – 1

बालक छात्रावास – 1 (क्षमता 90)

बालिका छात्रावास – 1 (क्षमता 60)

आडिटोरियम  – 1 (क्षमता 460)

प्राचार्य कक्ष  – 1

फैकल्टी कक्ष – 3

सभी कक्ष फर्नीचर से सुसज्जित

Check Also

गीता प्रेस के ट्रस्टी बैजनाथ का निधन, मुख्यमंत्री योगी ने जताया शोक

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गीता प्रेस, गोरखपुर के ट्रस्टी बैजनाथ अग्रवाल के निधन पर ...